___________________________________________________________________

आवेदकों हेतु सामान्य निर्देश M.A.- Ancient History and Culture : 2 Years Course (4 Semester)


Eligibility for Admission

  • For admission to the course of M.A. - Ancient History and Culture (2 Years Course - 4 Semester) the minimum Educational qualification is Graduation in any Stream/Subject with minimum 45% marks .There will be 5% relaxation for SC/ST candidates.

Reservation

  • Reservation of seats for SC/ST/OBC and Handicapped candidates will be as per U.P. Govt./ University rules.

Application Form / Fees

  • Application Fee for M.A. - Ancient History and Culture course is Rs. 250 + Bank Transaction Fee. 

Seats and Course Fee

  • Total Seats : 40
    Fee Details
  • Tuition Fee 2500/- per year
  • Caution Money 200/ one time and refundable after completion of course
  • Other Fee 50/- per year

Admission Criteria

  • In M.A. - Ancient History and Culture (2 Years Course), admission will be made strictly on the basis of merit in the Graduation Marks. However, minimum required eligibility qualification criteria must be fulfilled.
  • Maximum 5% students of other States will be allowed for admission.
  • Candidates will be allotted seats in University Campus only.

सामान्य निर्देश :

  • M.A. - Ancient History and Culture (2 वर्षीय ) पाठ्यक्रम में प्रवेश केवल उन्हीं अभ्यर्थियों को दिया जायेगा जो प्रवेश हेतु आवश्यक अर्हता की शर्ते पूर्ण करते हैं।
  • M.A. - Ancient History and Culture (2 वर्षीय )  पाठ्यक्रम केवल महात्मा ज्योतिबा फुले रूहेलखण्ड विश्वविद्यालय परिसर में संचालित है.  प्रवेशार्थियों को प्रवेश देने में उ.प्र. शासन/वि.वि. के आरक्षण नियमों का अनुपालन होगा। प्रवेशार्थियों का चयन प्रवेश परीक्षा में प्राप्त अंकों की योग्यता सूची के आधार पर किया जायेगा।
  • उ.प्र. राज्य के बाहर के निवासियों को अधिकतम 5 प्रतिशत स्थानों पर (योग्यता क्रम में स्थान रखने पर) प्रवेश दिया जायेगा।
  • प्रवेश के समय आवेदन पत्र में संलग्न समस्त प्रमाण-पत्रों की मूल प्रतियां प्रस्तुत करनी होंगी। प्रवेश की सूचना विश्वविद्यालय वेब-साइट पर उपलब्ध होगी, इसके लिए उन्हें पृथक से कोई सूचना प्रेषित नहीं की जायेगी।
  • आरक्षित वर्ग के अभ्यर्थियों के लिए प्रवेश में आरक्षण का लाभ पाने हेतु सक्षम अधिकारी द्वारा निर्गत प्रमाण-पत्र संलग्न करना होगा तथा आवेदन पत्र पर दी गयी श्रेणियों के नीचे संबंधित श्रेणी पर निशान लगाना अति आवश्यक है। अन्य पिछड़ा वर्ग के अन्तर्गत आरक्षित अभ्यर्थी यह सुनिश्चित करलें कि वे क्रीमी लेयर के अन्तर्गत न आते हों। अन्यथा की दशा में अभ्यर्थी यह लाभ पाने के अधिकारी नहीं होंगे।
  • आरक्षित वर्ग के अन्तर्गत केवल उ.प्र. के मूल निवासियों को ही आरक्षण का लाभ दिया जायेगा।
  • ऑनलाइन आवेदन में अंकित प्रविष्टि त्रुटिपूर्ण पाये जाने पर अभ्यर्थी के आवेदन-पत्र को निरस्त करने के लिए महात्मा ज्योतिबा फुले रूहेलखण्ड विश्वविद्यालय स्वतत्र होगा।